SAIL Share Price Target 2022, 2023, 2024, 2025, 2030

SAIL Share Price Target 2022, 2023, 2024, 2025, 2030: स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया (सेल) भारत की सबसे बड़ी स्टील बनाने वाली कंपनी और महारत्न कंपनी है। यह पीएसयू कंपनी अपने वैल्यूएशन और high dividend yield के कारण निवेशकों को काफी आकर्षित करती है।

इस स्क्रिप्ट में निवेश करना एक अच्छा विकल्प है या नहीं, हम इस लेख में जानेंगे। साथ ही, हम SAIL Share Price Target 2022, 2023, 2024, 2025 और 2030 के साथ कंपनी के विस्तृत विश्लेषण को भी कवर करेंगे ।

SAIL Share Price Target 2022, 2023, 2024, 2025 and 2030

SAIL Share Price Target

स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड इस्पात मंत्रालय के स्वामित्व वाली एक सरकारी स्वामित्व वाली कंपनी है। कंपनी देश के केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों के सात महारत्नों में भी शामिल है।

कंपनी की स्थापना 19 जनवरी 1954 को हुई थी। कंपनी का मुख्यालय नई दिल्ली, भारत में स्थित है। ताजा आंकड़ों के मुताबिक कंपनी में काम करने वाले कर्मचारियों की संख्या 61,989 है।

श्रीमती सोमा मंडल स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड की अध्यक्ष हैं।

SAIL Share Price Target 2022

स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड इस्पात और लोहा उत्पाद क्षेत्र में काम कर रहा है। कंपनी का मार्केट कैप लगभग ₹33,000 करोड़ है।

कंपनी का मौजूदा स्टॉक मूल्य ₹78-₹85 के बीच है। सेक्टर पी/ई 6.74 है और सेल पी/ई सिर्फ 3.63 है, जो दर्शाता है कि कंपनी का तुलनात्मक रूप से कम वैल्यूएशन पर ट्रेड हो रही है।

पिछले तीन वर्षों में, शेयर ने 12.40% का CAGR रिटर्न दिया है, जो कि पीएसयू स्टॉक को देखते हुए अच्छा है। हालांकि Sep 2022 की तिमाही के लिए कंपनी के नतीजे अच्छे नहीं रहे। कंपनी ने यहां लॉस पोस्ट किया हैं जिसका मुख्य कारण कंपनी के बढ़े हुए ख़र्चे हैं। 

SAIL Share Price Target 2022
First Target ₹87
Second Target ₹92 

Related:

SAIL Share Price Target 2023

कंपनी के कच्चे माल की कीमतों में उतार-चढ़ाव का रुझान दिखा है। अगर यह जारी रहता है तो इसका असर कंपनी के मार्जिन और प्रॉफिट पर पड़ेगा। सेल पर 37,676.58 करोड़ रुपये का कर्ज भी है। लेकिन फिर भी, ऋण-इक्विटी अनुपात (डेब्ट टू इक्विटी रेश्यो) 0.87 है जो नियंत्रण में है।

कंपनी के पास देश में बहुत अधिक जमीन है। इससे कंपनी को मौका मिलेगा कि वह अपनी क्षमता बढ़ा सकती है। यदि कंपनी अपनी कैपेसिटी बढ़ा पाती हैं तो कंपनी की सेल्स में भी इजाफा होगा। 

SAIL Share Price Target 2023
First Target ₹98
Second Target ₹102

SAIL Share Price Target 2024

कंपनी को अपने संसाधनों का सही उपयोग करने की आवश्यकता है। सेल ने पहले से ही काम शुरू कर दिया है और अपनी खदान की गुणवत्ता में वृद्धि कर दी है। इसके प्रभाव से, कंपनी अपने कर्ज को कुछ हद तक कम करने में सफल रही।

सेल के पास एक मजबूत केंद्रीय विपणन (मार्केटिंग) संगठन है जो कंपनी के स्टील उत्पादों के विपणन के लिए जिम्मेदार है, जिसमें माइल्ड स्टील और अलॉय स्टील शामिल हैं। इसके अलावा, कंपनी का देश भर में एक भारी डीलर नेटवर्क है। इसकी वजह से कंपनी को अपने प्रतिद्वंदियों के मुकाबले थोड़ा एज हैं। 

SAIL Share Price Target 2024
First Target ₹122
Second Target ₹134

SAIL Share Price Target 2025

सेल एक सरकार समर्थित कंपनी है जो अपने प्रतिस्पर्धियों को बढ़त देती है। लेकिन पिछले कुछ सालों में कंपनी अपनी बिक्री का महत्व नहीं बढ़ा पाई है। इसलिए मैनेजमेंट को कैपेसिटी बढ़ाकर अपनी बिक्री बढ़ाने का प्रयास करना चाहिए।

इस कंपनी में निवेश करते समय आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि इस्पात उद्योग बदलते व्यापार चक्रों के प्रति संवेदनशील है, जिसमें अर्थव्यवस्था में बदलाव, ब्याज दरें और उत्पादों की मांग और आपूर्ति में कोई मौसमी बदलाव शामिल हैं।

SAIL Share Price Target 2025
First Target ₹143
Second Target ₹152

SAIL Share Price Target 2030

कंपनी देश के सबसे बड़े एकीकृत इस्पात उत्पादकों में से एक है। हालांकि, सेल कोयले की जरूरतों के बाहरी स्रोतों पर निर्भर है, जो उन्हें कोयले की कीमत में उतार-चढ़ाव के जोखिम के लिए उजागर करता है। इसलिए कोई भी निवेश करते आपको ऐसे महत्वपूर्ण पॉइंट्स पर भी विचार करना चाहिए। 

अगर आप इस कंपनी में लंबी अवधि के लिए निवेश कर रहे हैं तो आपको निश्चित तौर पर अच्छा लाभांश मिलेगा। साथ ही अगर कंपनी भविष्य में अच्छा करती है तो अच्छा रिटर्न भी मिलने वाला है।

SAIL Share Price Target 2030
First Target ₹300
Second Target ₹325

सेल का बिजनेस मॉडल

स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) एक स्टील उत्पादक कंपनी है। कंपनी स्टील उत्पादों की एक विस्तृत श्रृंखला बनाती और बेचती है।

कंपनी 5 एकीकृत संयंत्रों और तीन विशेष इस्पात संयंत्रों में लोहा और इस्पात का उत्पादन करती है। ये संयंत्र भारत के पूर्वी और मध्य क्षेत्रों में स्थित हैं और कच्चे माल के घरेलू स्रोतों के करीब हैं।

सेल पूरी तरह से एकीकृत लोहा और इस्पात निर्माता है। कंपनी घरेलू निर्माण, इंजीनियरिंग पावर, रेलवे ऑटोमोटिव और रक्षा उद्योगों के लिए बुनियादी और विशेष स्टील दोनों का उत्पादन कर रही है। साथ ही, कंपनी विदेशी बाजार में बिक्री के लिए स्टील का उत्पादन करती है।

कंपनी के उत्पाद:

  • सेमी (खिलता है, बिलेट्स, स्लैब)
  • संरचनाएं (बीम, चैनल, कोण, क्रेन रेल, जेड-टाइप शीट-पिलिंग अनुभाग)
  • बार्स, रॉड्स और रीबार्स (वायर रॉड्स)
  • हॉट रोल्ड उत्पाद (कॉइल और शीट)
  • जस्ती उत्पाद (सादा/नालीदार चादरें और कुंडल)
  • प्लेटें
  • पाइप, इलेक्ट्रिकल स्टील और टिन प्लेट्स
  • रेलवे उत्पाद
  • कच्चा लोहा
  • मिश्र धातु, स्टेनलेस और अन्य विशेष स्टील
  • समानांतर निकला हुआ किनारा बीम और संरचनात्मक।

इस्पात संयंत्र:

  1. भिलाई,
  2. राउरकेला,
  3. दुर्गापुर,
  4. बोकारो और
  5. बर्नपुर (आसनसोल)।

विशेष इस्पात संयंत्र:

  1. सलेम,
  2. दुर्गापुर औरभद्रावती।

कंपनी की ताकत

वित्तीय ताकत:

  • 12.00% की High dividend yield.
  • FCFF प्रति शेयर 50.57 (Free cash flow per share)
  • पिछले पांच वर्षों में बिक्री वृद्धि 12.09% है।
  • पिछले पांच वर्षों में लाभ वृद्धि 24.22% है।
  • 56.32 दिनों का कुशल नकद रूपांतरण चक्र।
  • कंपनी के पास अच्छा नकदी प्रवाह प्रबंधन है: CFO/PAT 8.09 पर है।
  • 65% प्रमोटर होल्डिंग।

प्रमुख मजबूत पक्ष:

  • सेल के पास भौगोलिक दृष्टि से विविध परिचालन है और मूल्य वर्धित उत्पादों पर जोर बढ़ रहा है।
  • कंपनी भारत सरकार के पास बहुलांश हिस्सेदारी के साथ भारत की सबसे बड़ी उत्पादकों में से एक है।
  • एक ‘महारत्न’ कंपनी।
  • कंपनी का बाजार नेटवर्क मजबूत है।

कंपनी की कमजोरियां

वित्तीय कमजोरियां:

  • ₹37,676.58 करोड़ का कर्ज बोझ।
  • वर्तमान अनुपात (current ratio) और त्वरित अनुपात (quick ratio) दोनों मानक से नीचे हैं।
  • पिछले पांच वर्षों में आरओई सिर्फ 2.29% और आरओसीई 5.21% है।
  • कंपनी की 38,137.61 करोड़ की आकस्मिक देनदारियां (contingent liabilities) हैं।
  • पिछले तीन वर्षों में बिक्री में वृद्धि संतोषजनक नहीं है।

अन्य कमजोरियां:

  • कंपनी के लौह अयस्क और कोकिंग कोल के कच्चे माल की कीमतों में पिछले कुछ वर्षों में उतार-चढ़ाव का रुझान दिखा है।
  • इस्पात उद्योग बदलते व्यापार चक्रों के प्रति संवेदनशील है। साथ ही, उद्योग को बाजार में मांग और आपूर्ति की स्थिति में बदलाव का सामना करना पड़ता है।

Shareholding pattern of SAIL

Public 21.29%
Promoters 65%
FII 4.31%
DII 9.4%
Others 0%

कंपनी की वार्षिक रिपोर्ट:

Competitors of SAIL

Hindalco, JSW Steel, Jindal Steel, Hindusthan Zinc, NMDC, और Tata Steel कंपनी के कुछ प्रमुख प्रतिस्पर्धी हैं।

Related:

SAIL Share Price Target 2022, 2023, 2024, 2025, 2030

SAIL Share Price Targets
First Target (2022) ₹87
Second Target ₹92
First Target (2023) ₹98
Second Target ₹102
First Target (2024) ₹122
Second Target ₹134
First Target (2025) ₹143
Second Target ₹152
First Target (2030) ₹300
Second Target ₹325

निष्कर्ष

सेल जो कि एक महारत्न कंपनी है, का बुनियादी बातों के आधार पर अच्छा कारोबार है। साथ ही मौजूदा समय में यह स्टॉक सस्ते दाम पर उपलब्ध है।

भविष्य में, कंपनी अच्छा कर सकती है क्योंकि इसे भारत सरकार का समर्थन प्राप्त है। यदि सेल 10% सीएजीआर रिटर्न उत्पन्न करने में सक्षम होगा तो यह निवेश करने के लिए एक अच्छी कंपनी हो सकती है। चूंकि कंपनी एक उच्च लाभांश भी प्रदान करती है।

तो दोस्तों अगर आपको SAIL Share Price Target 2022, 2023, 2024, 2025 और 2030 का आर्टिकल पसंद आया हो तो कृपया इसे सोशल मीडिया नेटवर्क पर अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

Disclaimer – इस लेख में हमने सिर्फ कंपनी का मूल्यांकन किया है। साथ ही, हम सेबी के पंजीकृत सलाहकार नहीं हैं। हमने इस शेयर पर कोई निवेश सलाह नहीं दी है। यह लेख केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए है। कोई भी निवेश करने से पहले कृपया स्वयं शोध करें या अपने वित्तीय सलाहकार की सलाह लें।

FAQ :

  1. सेल के सीईओ कौन हैं?

    श्रीमती सोमा मंडल सेल की सीईओ हैं।

  2. क्या सेल एक कर्ज मुक्त कंपनी है?

    कंपनी के ऊपर 37,676.58 करोड़ रुपये का कर्ज है।

  3. सेल का मालिक कौन है?

    65% की हिस्सेदारी वाली भारत सरकार सेल की मालिक है।

  4. क्या सेल में निवेश करना सही है?

    कंपनी स्टील इंडस्ट्री में काम कर रही है। पिछले वित्तीय वर्ष में, कंपनी ने भारी लाभ कमाया जो 90% से अधिक था।

  5. क्या सेल एक लाभदायक कंपनी है?

    हाँ, कंपनी एक लाभदायक कंपनी है।

Leave a Comment

Bazar Update